खरना संपन्न, अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य शुक्रवार को

0
21

गिरिडीह : सूर्य उपासना का महापर्व छठ का खरना अनुष्ठान गुरुवार को संपन्न हुआ। व्रतियों ने नेम-निष्ठा के साथ खरना का प्रसाद तैयार किया व उपवास रखकर संध्या पहर में छठ मैइया की पूजा की। खरना में व्रतियों के प्रसाद ग्रहण के दौरान पूरी शांति बरती गई। इसके साथ ही घर-घर में प्रसाद लेने के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी। लोगों ने पूरे भक्ति भाव के साथ पूजा-अर्चना में शामिल होकर भगवान भास्कर और छठ मईया का प्रसाद ग्रहण किया।खरना संपन्न होने के साथ ही गुरुवार से छठ व्रतियों का 36 घंटे का निर्जला उपवास शुरु हो गया है। शुक्रवार को छठ व्रती अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य देगी। शनिवार को उदीयमान सूर्य को अर्घ्य देने के बाद व्रती छठ घाट पर पारण कर अपना उपवास तोड़ेगी। इधर खरना के दिन गिरिडीह बाजार में फलों समेत पूजा सामग्री खरीदने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी थी। महापर्व छठ को लेकर गिरिडीह का माहौल भक्तिमय हो गया है। गिरिडीह स्थित उसरी नदी के विभिन्न छठ घाटों को काफी सुंदर तरीके से सजाया जा रहा है। प्रकाश व्यवस्था कराई जा रही है। वही गिरिडीह कोयलांचल क्षेत्र के विभिन्न छठ घाटों को भव्य तरीके से सजाया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here