गिरिडीह के 12 हाई स्कूलों में व्यावसायिक शिक्षा पर ग्रहण इस सत्र में 12 नए स्कूलों में दो ट्रेड में होगी व्यावसायिक शिक्षा की पढ़ाई

0
63

चालू सत्र में राज्य के 128 हाई स्कूलों में वोकेशनल कोर्स शुरू की गई है। जिसमें गिरिडीह जिला के 12 हाई स्कूल भी शामिल हैं। कोरोना महामारी के कारण वोकेशनल कोर्स की पढ़ाई पर ग्रहण लग गया है। अप्रैल माह से सत्र की शुरुआत होती है, लेकिन कोरोना के कारण 25 मार्च से ही देशव्यापी लॉकडाउन का एलान हो गया। अनलॉक वन में भी स्कूल नहीं खुले है। हालांकि स्कूलों में दो तीन शिक्षकों को जाकर नामांकन आदि कार्यो का निपटाना है। जिन स्कूलों में वोकेशनल कोर्स की पढ़ाई होनी है, वहां ट्रेड के प्रशिक्षक भी नियुक्त कर दिए गए हैं, लेकिन स्कूल नहीं खुलने के कारण वोकेशनल कोर्स की पढ़ाई शुरू नहीं हुई है।
रोजगारपरक शिक्षा देना है उद्देश्य
स्कूली शिक्षा को प्रोत्साहित करने और छात्र-छात्राओं को रोजगारपरक शिक्षा देने के उद्देश्य से स्कूलों में वोकेशनल शिक्षा की व्यवस्था की गई है। राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के तहत सत्र 2015-16 से चालू सत्र तक जिले के 27 हाई स्कूलों में वोकेशनल कोर्स की शुरुआत की गयी है। बढ़ती रुचि को देखते हुए इस वर्ष गिरिडीह जिले में सर्वाधिक एक साथ 12 हाई स्कूलों में वोकेशनल कोर्स की शुरुआत की गई। जबकि पूर्व से 15 स्कूलों में वोकेशनल कोर्स की पढ़ाई हो रही थी।
इन 12 हाई स्कूलों में होगी वोकेशनल कोर्स की पढ़ाई
चालू सत्र में जिला स्कूल गिरिडीह, गिरिडीह कोलियरी प्लस टू उवि बनियाडीह, एसएस उवि बरकट्ठा, एसआरएसएसआर उवि सरिया, प्रोजेक्ट हाई स्कूल पिहरा, टीकेएनके उवि जनता जरीडीह, उवि तिसरी बरमसिया, टीआरपी उवि लेदा, उवि नवडीहा, यूपीजी सरकारी उवि असुर, झारखंडनाथ उवि तारा, पंचायत उवि बरियारपुर आदि नए स्कूलों में वोकेशनल कोर्स की शुरुआत करनी है।
इन ट्रेडों में होगी पढ़ाई
जिले के 12 नए हाईस्कूलों में सत्र 2020-21 से नौवीं कक्षा में आठ ट्रेड में पढ़ाई शुरू होनी है। इन स्कूलों में कृषि, मल्टीस्किल, इलेक्ट्रॉनिक एंड हार्डवेयर, ऑटोमोटिव, एपरेल एंड मेडअप/होम फरनिसिंग, रिटेल, आईटी/आईटेस एवं टूरिज्म एंड होस्पिटालिटी ट्रेड की पढ़ाई शामिल है। वोकेशनल कोर्स वाले प्रत्येक स्कूल में दो ट्रेड में पढ़ाई होगी। एक ट्रेड में 40 बच्चों का नामांकन लेना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here