झारखंड में तैयार होगा खिलाड़ियों का डाटा बेस

0
19

झारखंड की हेमंत सरकार राज्य में खेल और खिलाड़ियों के बेहतर भविष्य को लेकर दृढ़संकल्पत है। इसी क्रम में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने आज खेल नीति की समीक्षा की। इस दौरान मुख्यमंत्री ने अधिकारीयों को खेल नीति में खिलाड़ियों के हित संबंधित बदलाव करने का आदेश दिया। नयी खेल नीति में राज्य के खिलाड़ियों को प्रखंड स्तर तक तराशने और अंतराष्ट्रीय स्तर का प्रशिक्षण देने, पूर्व खिलाडियों को पेंशन, वर्तमान खिलाडियों को छात्रवृत्ति, आवास समेत अन्य सुविधाएं देने संबंधी योजनाओ को समाहित करने का आदेश दिया।सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि राज्य में खेले जाने वाले खेल एवं खिलाड़ियों को प्राथमिकता दें, जिससे प्रतिभा की पहचान हो सके। इन प्रतिभाओं को बेहतर प्रशिक्षण देकर राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर में भाग लेने के अनुरूप तैयार किया जा सके। इन बातों को खेल नीति में शामिल करें। खेल के मैदान का निर्माण प्रखंड स्तर पर भी करें। खेल नीति का परिणाम पांच वर्ष बाद सामने आएगा। ये बातें मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन ने कही। मुख्यमंत्री मंत्रालय में खेल नीति 2020 की समीक्षा के क्रम में अधिकारियों को निदेश दे रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि एक पोर्टल प्रारंभ करें, जहां राज्य के खिलाड़ियों अपना ब्योरा दर्ज कर सकें। खिलाड़ियों का डाटाबेस तैयार करें। यह खेल नीति को और कारगर बनाने में सहायक होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here