नहाय-खाय के साथ महापर्व छठ का चार दिवसीय अनुष्ठान शुरू

0
115

गिरिडीह: चार दिवसीय महापर्व छठ पूजा की तैयारी पूरी कर ली गई है। छठ में व्रतधारी लगातार 36 घंटे का निर्जला उपवास करेंगें। बुधवार को नहाय-खाय के साथ महापर्व छठ का चार दिवसीय अनुष्ठान शुरू होगा। छठ व्रती स्नान कर शुद्ध शाकाहारी भोजन ग्रहण कर व्रत की शुरुआत करते हैं। घर के सभी सदस्य व्रती के भोजन करने के बाद ही भोजन ग्रहण करते हैं। भोजन में कद्दू, चने का दाल और चावल ग्रहण करने की परंपरा है। दूसरे दिन गुरुवार को खरना है। खरना के प्रसाद में खीर बनाया जाता है। तीसरे दिन शुक्रवार को अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य दिया जाएगा। शनिवार को उदीयमान सूर्य को अर्घ्य देने के साथ चार दिवसीय अनुष्ठान का समापन होगा।इधर महापर्व छठ को लेकर बाजार पूजन सामग्रियो व फल से सज गया है। बड़ी संख्या में छठव्रती पूजा सामग्री खरीदने बाजार पहुंच रहे है। छठ में उपयोग की जानेवाली पूजन सामग्री में सूप, डाला, मिट्टी के दीए, हल्दी के गांठ लगे पौधे, मूली, अड़वी, सूथनी, अदरक, तरह-तरह के फल से बाजार पट गया है। जगह-जगह पूजन सामग्री की दुकानों सज गई है। ईख, केला, समेत विभिन्न फल ट्रक से बाजार में उतर रहे है। पिछले साल की तुलना में पूजा सामग्री की कीमत में इजफा देखा जा रहा है। नहाय-खाय को लेकर बाजारों में कद्दू की खूब बिक्री हुई। इसकी कीमत में भी उछाल दिखा। 20-30 रुपये बिकने वाला कद्दू 40 से 70 रुपये तक बिका। बड़ा चौक, मकतपुर, कचहरी चौक आदि जगहों पर कद्दू खरीदने को लेकर लोगों की भीड़ उमड़ रही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here