बकरा मारने के आरोप में दो दलितों को बांधा पेड़ से, किया गया प्रताड़ित, घटना के तीन दिन बाद दोनों पक्षों ने थाना में की शिकायत, एफआईआर

0
39

गिरिडीह : जिले के मुफस्सिल थाना क्षेत्र के घघरडीहा गांव में बकरा को काटने के आरोप में दो दलितों को पेड़ से बांधकर प्रताड़ित किया गया है. इस मामले को लेकर शनिवार की देर शाम को पीड़ित युवक मुफस्सिल थाना इलाके के घघरडीहा निवासी परमानंद दास व शंकर दास ने मुफस्सिल थाना में लिखित शिकायत की. आवेदन के आधार पर मुफस्सिल थाना में प्राथमिकी दर्ज की गयी है. वहीं दूसरे पक्ष ने भी बकरा को काटने का आरोप लगाते हुए एफआईआर दर्ज करवाया है. पीड़ित युवकों का कहना है कि 28 जुलाई को उसके फसल को गांव के ही एक यादव समाज के व्यक्ति का बकरा खा रहा था. दोनों ने बकरा को खदेड़ा इस दौरान बकरा चिल्लाने लगा. बाद में बकरा को यादव पक्ष के लोगों ने खुद ही मार दिया. दूसरे दिन 29 जुलाई को बकरा मारने का आरोप लगाते हुए दोनों को घर से निकाल कर एक पेड़ में बांध दिया गया. इस दौरान मुखिया बालेश्वर यादव की मौजूदगी ने पंचायत हुई जिसमें उनसे जबरन कहवाया गया कि दोनों ने बकरा को मारा है. यहीं पर उनपर जुर्माना भी लगाया गया और उनपर कई लोगों ने थूका. इधर दूसरे पक्ष की तरफ से शकुंतला देवी ने दोनों युवकों पर बकरा काटने आरोप लगाते हुवे एफआईआर दर्ज करवायी है. मुखिया बालेश्वर यादव ने कहा कि 28 जुलाई को बकरा काटे जाने की शिकायत मिली थी. इसपर 29 जुलाई को पंचायत हो रही थी. पंचायत में काफी भीड़ हो गयी तो कुछ लोगों ने जबरन दोनों युवकों को पेड़ से बांध दिया. हालांकि उसने तुरंत ही दोनों को बंधन से मुक्त करवा दिया था. इस दौरान किसी भी तरह दोनों युवकों को प्रताड़ित नहीं किया गया. इस मामले में मुखिया बालेश्वर यादव के समेत 18 लोगों को नामजद किया गया है. मामले पर मुफस्सिल थाना प्रभारी रत्नेश मोहन ठाकुर ने बताया कि जिस दिन पंचायत हो रही थी उसकी सूचना पर पुलिस बल भी मौके पर पहुंचा था. दोनों पक्षों को थाना भी लाया गया था. उस दिन दोनों पक्षों ने आपस में मामला सलटने की बात कहते हुवे आवेदन नहीं दिया था. बाद में शनिवार की शाम को दोनों पक्षों ने आवेदन दिया तो एफआईआर करते हुए जांच की जा रही है.


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here